#MeToo के लपेटे में अभिनेताओं के बाद राजनेता, एमजे अकबर पर सनसनीखेज आरोप

दिल्लीः #MeToo अभियान ने अभिनेताओं के साथ-साथ नेताओं की पोल खोलने का काम किया है। #MeToo के लपेटे में आने के बाद राजनीति में भूचाल आ गया है। राजनीति के भूचाल में विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर आ गए हैं। एमजे अकबर पर 2 महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। मामले पर कांग्रेस मे मोर्चा खोल दिया है तो वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज मामले पर चुप्पी साध कर बैठी है। कांग्रेस की तरफ से नेता मनीष तिवारी ने एमजे एकबर से प्रतिक्रिया की अपील की है।

वरिष्ठ पत्रकार प्रिया रमानी ने सोमवार को ट्वीट कर लिखा है कि अंग्रेजी पत्रिका वोग में ‘हार्वे विन्सिटन्स ऑफ द वर्ल्ड’ शीर्षक वाले अपने लेख में उन्होंने जिस शख्स का जिक्र किया है वो एमजे अकबर थे। जो उन दिनों उस अखबार के संपादक थे जिसके लिए उन्होंने इंटरव्यू दिया था। प्रिया रमानी ने एमजे अकबर को दरिंदे की उपाधि देते हुए एक होटल में अपने इंटरव्यू की पूरी कहानी बयां की है। उन्होंने बिना नाम लिए लिखा कि उन्होंने होटल के कमरे में उनका इंटरव्यू लिया और उन्हें शराब ऑफर की।

प्रिया रमानी की माने तो उस लम्हा उनके साथ जो हुआ वो बेहद डराने वाला था। प्रिया ने कहा कि उनको बिस्तर पर पास बैठने को कहा साथ ही पोस्ट में कहा गया कि अकबर अश्लील फोन कॉल्स, मैसेज और असहज टिप्पणी करने में माहिर हैं। इंडिया टुडे ने एमजे अकबर और उनके दफ्तर से इन आरोपों पर जवाब मांगा है। अकबर इस समय नाइजीरिया के अबुजा में भारत-पश्चिम अफ्रीका सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं और बुधवार को वापस लौटेंगे।

गौरतलब है कि एमजे अकबर पहले मंत्री हैं जिनका नाम #MeToo अभियान में सामने आया है। जबकि अब तक यौन शोषण का शिकार बनी महिलाएं सोशल मीडिया में सामने आ रही हैं और गुनाहगारों के नाम सार्वजनिक कर रही हैं। हिंदुस्तान चैनल एमजे अकबर को आरोपी नहीं बना रहा है और न ही उनको बदनाम करने की कोई मंशा है लेकिन जो खुलासा पत्रकारों ने किया है वो खुलासा बेहद चौकाने वाला है। जिससे कहीं न कहीं अब एमजे अकबर की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

आप की राय

Be the First to Comment!

avatar