AMU के 2 छात्रों का निलंबन हुआ रद्द

अलीगढ़: AMU लगातार सुर्खियों में है। यहां कभी छात्र देश विरोधी नारे लगाते हैं तो कभी छात्र यहां आजादी की मांग करते हैं। पिछले कुछ दिनो पहले हुई आजादी की मांग और नारेबाजी में निलंबित किए गए छात्रों का निलंबन वापस ले लिया गया है। AMU के वीसी प्रो. तारिक मंसूर ने इस बात के संकेत दिए हैं। कश्मीर के तीन छात्रों पर आतंकी मन्नान वानी के लिए प्रार्थना आयोजित करने को लेकर देशद्रोह का केस दर्ज किया गया था।

AMU के वीसी प्रो. तारिक मंसूर ने मामले पर अपना बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हमने निलंबन वापसी को कहा है लेकिन पुलिस कार्रवाई से हमारा सम्बंध नहीं है। उन्होने कहा कि FIR पुलिस ने कही है हमने नहीं करवाई है। एक सवाल के जवाब में उन्होने कहा कि एफआईआर यूनिवर्सिटी में बने चौकी इंचार्ज ने दर्ज की है। उन्होंने कहा कि यूनिवर्सिटी के किसी अधिकारी ने एफआईआर नहीं दर्ज की है।

AMU के वीसी प्रो. तारिक मंसूर ने आगे भी कई अहम मुद्दों पर अपनी राय दी। उन्होंने कहा कि अगर कोई दोषी नहीं है तो उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा नहीं दर्ज कराया है। यह कार्रवाई पुलिस ने की है। उन्होंने यह भी कहा कि बच्चे चाहे बंगाल के हों, बिहार के हों या यूपी के हों, हमारे लिए हर राज्य, धर्म और जाति का बच्चा एक बराबर है।

आप की राय

Be the First to Comment!

avatar